Friend’s shayari

१)पी लेंगे तेरे हर आंसू, कभी दिल में बसा कर तो देखो! सजा दूंगा जिंदगी खुशियों से, जरा मुझे अपना बनाकर तो देखो!! २)हुश्न के नुमाइश में एक दिन, दुनिया से रुखसत हो जाओगे! गर कर लो प्यार वतन से तुम, भारत मां का प्यार तुम पाओगे!! ३) जिंदगी गुजर

1,436 total views, 12 views today

Teachers Day poem

शिक्षक दिवस पर विशेष:- गुर से बड़ा गुरू, गुरू से बड़ा न कोय! राम, रहिम, रहमान सब, गुरू के शिष्य ही होय!! – जी. एल. शिक्षक ईश्वर के अवतार हैं!/ Teachers day poem बुनते सपने हजार है, सच्चे जिनके विचार हैं! होते हैं ये खुदा सलिके, शिक्षक ईश्वर के अवतार

2,414 total views, 20 views today

खुश रहने के तरीके/ Tips for Happiness

Tips for Happiness आजकल के भागदौड़ भरी जिंदगी में प्रत्येक व्यक्ति किसी न किसी समस्या से परेशान हैं! फलस्वरूप वह दिमागी रूप से अस्वस्थ होता जा रहा है! आज मैं इसी विषय पर चर्चा करूंगा! जो आपकी जिंदगी में बड़ा बदलाव ला सकती है! दोस्तों, खुशी और ग़म जिंदगी के

801 total views, 6 views today

स्वतंत्रता दिवस पर कविता/ poem on independence Day

HAPPY INDEPENDENCE DAY…. सीमा पे लड़ले जवनवां हो….. सीमा पे लड़ले जवनवां हो, वतनवां के शान होई गईले! भारत माता के ललनवां हो, देश पे कुर्बान होई गईले!! जब जब जरुरत रहले भारत मां के सर के, कफ़न बांध के आई गईले वीर हर घर से! स्वर्ग से प्यारा ई

10,137 total views, 4 views today

Motivational poem in Hindi

Motivational poem in Hindi बुलन्दियों को छूना है! ये कल की रीत सुहानी है!! आ धरा पर धर दें सब कुछ! बन रही नयी कहानी है!! दीपक जलाकर दुनियां को! कर रोशन तू जुबानी है!! मशाल न उठा अब तू! ये चीज बड़ी पुरानी है!! गा रहा तू गाथा सबकी!

1,580 total views, 3 views today

Ten best two lines shayari

शायरी १ सिसकते अल्फाज़ दिले-हाल बयां करते हैं! रहनुमा बनके तेरी सजदा किया करते हैं!! – जी.एल. तेरी यादों का सावन जला रही है हमें! खुबसूरत सी ये वादियां बुला रही है तुम्हें!! – जी.एल. कुछ तो बात है जो हमसे छुपाते हो! पुछूं जब हाले दिल तो बस मुस्कुराते

2,534 total views, 26 views today

Indian Army Day poem

Army day पर सभी जवानों को मेरी तरफ से Happy Army Day 1)कभी काश्मिर की भूमि, कभी बलिदान गाता हूं! मैं भारत मां का बेटा हूं, हिन्दुस्तान गाता हूं !! झुकते नहीं भले सर कट जाते हैं जो रण में! मैं उस मां के बेटे का यशगान गाता हूं!! –

1,493 total views, 3 views today

Poem on nature

विज्ञान की तमाम सफलताओं के बावजूद प्रकृति कोें हुई हानि के लिए प्रकृति की एक आवाज! सोचा नहीं कभी तुमने! सोचा नहीं कभी तुमने! क्यों आया था इस जग में!! उड़ना सिखा जो तूने नभ में! खलबली मच गयी विहग में!! तारों की दुनिया में ! जो तूने कदम रखा!!

1,654 total views, 1 views today

ये नरसंहार कर अत्याचार/ heart touching Hindi poem

“मन विचलित हो लिखूं व्यथा, जो धर्म विचलित हो करूं मैं क्या!!”- जी. एल. ये पंक्तियां आज के समाज के लिए लिखीं गयी है!! ये नरसंहार कर अत्याचार!! ये नरसंहार कर अत्याचार! जला दी बिटिया का संसार!! खोल के तू पाप का द्वार! करें मानवता का संहार!! बनके तू निशाचर

1,654 total views, 8 views today

श्रद्धांजलि कविता/ poem on Surat fire in takshashila

“ये कविता नहीं दर्द के प्याले हैं! एक कवि की कलम पे उभरे हुए छाले हैं!!”- जी. एल. सुरत अग्निकांड के मौत के मंजर को चरितार्थ करती ये चंद लाइनें: देखते रहे मौत का मंजर हाथों में दूरभाष लिये! फूलों का जनाजा निकला आग का उच्छ्वास लिये!! हृदयविदारक घटना यह

2,322 total views, 8 views today

1 2 3 6