मैं भी बेरोजगार हूं!

Yadon ka sawan

मैं भी बेरोजगार हूं!

समाज की नजर में, मैं नकारा और बेकार हूं!
मैं भी बेरोजगार हूं, हां मैं भी बेरोजगार हूं!!
पकौड़े का मारा, किन्तु बादलों में छुपा राडार हूं!
मैं भी बेरोजगार हूं, हां मैं भी बेरोजगार हूं!!
बेरोजगारी में डुबा हुआ, मैं परिवार का पतवार हूं!
मैं भी बेरोजगार हूं, हां मैं भी बेरोजगार हूं!!
सत्ता से कोई उम्मीद नहीं, मैं खुद का उम्मीदवार हूं!
मैं भी बेरोजगार हूं, हां मैं भी बेरोजगार हूं!!
अध्ययन कार्य परायण, मैं युवा बड़ा बेजार हूं!
मैं भी बेरोजगार हूं, हां मैं भी बेरोजगार हूं!!
पढ़ा लिखा अनपढ़, मैं सत्ता से लाचार हूं!
मैं भी बेरोजगार हूं, हां मैं भी बेरोजगार हूं!!
मां वीणापाणी का दास, मैं अदना सा कलमकार हूं!
मैं भी बेरोजगार हूं, हां मैं भी बेरोजगार हूं!! -जी. एल.

Read also>>>>> http://yadonkaawan.com/heart-touching-poem/

Read also>>>>> http://yadonkasawan.com/प्यार-क्या-है-what-is-love/

Read also>>>> http://yadonkasawan.com/जिन्दगी-की-कश्मकस-का/

1,170 total views, 3 views today

Leave a Reply

Your email address will not be published.