हिंदी ग़ज़ल/ Ghazal in Hindi

यादों का ग़ज़ल


         ग़ज़ल १

ख्वाब है टूटे बहुत जिंदगी में!
मगर हौसला अभी बाकी है!!
किया नेक हरेक काम खुदा का!
मगर फैसला अभी बाकी है!!
यूं तो सभी है खुदा के ही बंदे!
मगर इंसानियत का मैकदा अभी बाकी है!!
ढुंढते है ज़र्रे- ज़र्रे में तुझे ऐ मौला!
मगर दिल से दिल तक का इत्तिला अभी बाकी है!!जी एल.

            ग़ज़ल २

आशिकों की महफ़िल में,
हर रोज वो आते हैं!
थोड़ा मुस्कुराते हैं,
और थोड़ा शरमाते हैं!!
हमने तो आशिक़ी में उनकी,
जिंदगी गुजार दी!
खुद से रुठा रहा,
पर उन्हें प्यार दी!!
आज भी मेरे सपनों में!
सिर्फ वो आते हैं!! थोड़ा…..
जब भी उनकी यादों का,
सावन बरसता है!
मिलने को उनसे ,
मेरा दिल तरसता है!!
आज भी उनकी तन्हाई!
मेरे नयन भीगो जाते हैं!! थोड़ा..
खुद तन्हाई में जीता रहा,
पर उन्हें महफ़िल देता रहा!
हर मोड़ पर किया इंतजार उनका,
पा न सका पर प्यार उनका!
भुलना चाहते हैं उन्हें!
पर दिल से नहीं वो जाते हैं!! थोड़ा मुस्कुराते हैं!
और थोड़ा शरमाते हैं!! जी एल.

Read also >>>> http://yadonkasawan.com/%e0%a4%96%e0%a5%81%e0%a4%b6-%e0%a4%b0%e0%a4%b9%e0%a4%a8%e0%a5%87-%e0%a4%95%e0%a5%87-%e0%a4%a4%e0%a4%b0%e0%a5%80%e0%a4%95%e0%a5%87-tips-for-happiness/

Read also >>>>> http://yadonkasawan.com/ten-best-two-lines-shayari/

1,886 total views, 18 views today

Leave a Reply

Your email address will not be published.